sabudana kheer is ready

Sabudana Kheer Recipe | साबूदाना खीर रेसिपी |

Sabudana Kheer | how to make sabudana kheer |

sabudana kheer is a dessert made from milk and sago. it is preferred to have sabudana kheer while fasting especially in the days of navratri.

  • बनाने में लगने वाला कुल समय – 4 घंटे 30 मिनट
  • तैयारी का समय – 4 घंटे
  • पकाने का समय – 30 मिनट

sabudana kheer is ready

sabudane ki kheer को आमतौर पर व्रत के दिनों में या उपवास के दिनों में खाया जाता है। लेकिन ऐसा नहीं है कि इसे खाने के लिए आपको उपवास करना ज़रूरी है। जब भी मन हो साबूदाने की खीर का मज़ा लिया जा सकता है। 

sabudana recipe –  sabudana khichdi recipesabudana vada recipe, kurkure sabudana recipe

 

कई सारी indian sweet recipes हैं जो कि व्रत के दिनों में खाई जा सकती हैं। लेकिन sabudane ki kheer व्रत के दिनों में खाई जाने वाली सबसे ज़्यादा प्रसिद्ध मिठाई है। 

साबूदाने की खीर बनाने में ज़्यादा समय नहीं लगता। लेकिन साबूदाना भिगोने में समय ज़्यादा लगने की वजह से खीर की तैयारी का समय बढ़ जाता है।

sabudana kheer खाने में इतनी स्वादिष्ट लगती है कि इसमें dry fruits डालने की ज़रुरत भी नहीं पड़ती। फिर भी dry fruits के शौक़ीन लोग इसमें अपनी पसंद के हिसाब से मेवे डाल सकते हैं।

मैं साबूदाने की खीर में इलायची पाउडर ज़रूर डालती हूँ। इससे इसका स्वाद भी बढ़ जाटा है और मनमोहक खुशबू भी इसमें आने लगती है। खीर में साबूदाना इतना नरम हो जाता है कि छोटे बच्चे भी इसे आसानी से खा सकते हैं।

 

सामग्री साबूदाने की ख़ीर के लिए | ingredients for sabudana kheer

  • मीडियम साइज वाला साबूदाना – 1/2 कप

[बाजार में तीन तरह का sabudana मिलता है – बारीक, मोटा और मीडियम। मैंने medium आकार का साबूदाना उपयोग करके खीर बनाई है।]

  • दूध (फुल क्रीम) – 1 लीटर
  • शक्कर – 2 टेबलस्पून
  • इलायची पाउडर – छुटकी भर
  • पानी (साबूदाना धोने के लिए) – ज़रुरत के अनुसार

Sabudana Kheer Recipe In Hindi | साबूदाने की खीर बनाने की विधि

soaking of sabudana

साबूदाना खीर बनाने के लिए, मीडियम साइज वाले साबूदाना को पानी से एक-दो बार धो लें। दो – तीन टेबलस्पून पानी इसमें डालें और ढककर 3-4 घंटे के लिए रख दें। 3-4 घंटे बाद साबूदाना अच्छे से फूलकर नरम हो जाएगा।

  • अलग-अलग किस्म के साबूदाना को भिगोने का timeऔर पानी की quantity अलग होती है। इसीलिए जिस भी साबूदाने का इस्तेमाल कर रहे हैं उसे सही से भिगोना आना चाहिए।
  • कम पानी में साबूदाना भिगोने से साबूदाना कड़ा रह जाएगा और ज़्यादा पानी में भिगोने से साबूदाना चिपचिपा हो जाएगा। जिससे साबूदाना खाने में अच्छा नहीं लगेगा। इसीलिए सही तरह से पानी की quantity का ध्यान रखते हुए साबूदाना भिगोएं।

making of sabudana kheer

एक भगोने में दूध डालकर तेज़ आंच पर उबलने के लिए रख दें। दूध उबल जाए तब आंच को मध्यम कर दें।

भिगोया हुआ साबूदाना लें। इसे हाथ से थोड़ा हिला लें ताकि साबूदाना खिलाखिला हो जाए। भिगोये हुए साबूदाने को उबलते हुए दूध में आराम से डालें।

धीमी-मध्यम आंच पर साबूदाना के अच्छे से गलने तक बीच-बीच में चम्मच की मदद से हिलाते हुए पकाएं। कुछ ही देर में आप देखेंगें कि साबूदाना transparent हो गया है। एक सबदां को चम्म्च में लेकर दबायेगें तो वो एकदम नरम हो गया होगा और आसानी से दब जाएगा। इसका मतलब साबूदाना पक चुका है।

इसमें चीनी और इलायची पाउडर डालकर मिलाएं। खीर में मनचाहा गाढ़ापन आने तक इसे मध्यम आंच पर पकाएं। खीर को बीच-बीच में अच्छे से हिलाते रहें ताकि साबूदाना भगोने के तले में चिपके नहीं।

जब साबूदाने की खीर में मनचाहा गाढ़ापन आ जाये तब गैस को बंद कर दें। साबूदाने की खीर परोसे जाने के लिए तैयार है।

 

sabudana kheer को कब परोसें

– व्रत के दिनों में खाएं, खाने के बाद मीठे की तरह परोसें।

 

sabudana kheer कैसे परोसें

– गरम या ठंडी कैसी भी परोसी जा सकती है।

*ठंडी होने पर खीर गाढ़ी हो जाती है इसीलिए अगर ठंडा करके परोसना चाहते हैं तो खीर को थोड़ी पतली रखें। लेकिन ठंडी होने पर खीर ज़्यादा गाढ़ी लगे तो परोसते समय खीर में थोड़ा दूध डालकर अच्छे से मिला लें और फिर परोसें।

 

sabudana kheer स्वाद में

– मीठी होती है। साबूदाना खाने में बेहद नरम लगता है।

 

sabudana kheer देखने में

– सफ़ेद दूध में पारदर्शी साबूदाना ऐसी दिखाई देती है साबूदाने की खीर।

 

sabudana kheer को खाने से कुछ फायदे –

  • साबूदाना पाचन में आसान होता है।
  • साबूदाना हड्डियों के लिए अच्छा माना जाता है।
  • साबूदाने के सेवन से शरीर को तुरंत ऊर्जा मिलती है।
  • शरीर का वजन बढ़ाने में भी साबूदाने से मदद मिलती है।

Please Let Us Know How Can We Improve

%d bloggers like this: