rajgira pakora made from rajgira flour and potato are ready to eat

rajgira pakora recipe – राजगिरा के पकौड़े

rajgira pakora – recipe in hindi –

 

rajgira pakora made from rajgira flour and potato are ready to eat

 

rajgira pakora – rajgira ki pakodi – राजगिरा के पकोड़े –

 

राजगिरा, आमतौर पर लोग व्रत में खाना पसंद करते हैं। इससे कई व्यंजन बनाये जाते हैं जैसे राजगिरे की पूड़ी, राजगिरा पराठा, राजगिरा हलवा आदि। आज में आपको राजगिरे के पकोड़े बनाना बता रही हूँ जिसे व्रत में तो खा ही सकते हैं और व्रत के अलावा भी खाए जा सकते हैं।

राजगिरे के पकौड़े बनाने के लिए राजगिरे के आटे का इस्तेमाल किया है। इसमें थोड़े आलू के टुकड़े भी डालें हैं जो कि इनका स्वाद बढ़ा देते हैं।

व्रत के लिए अगर बनाते हैं तो इसमें अकसर सेंधा नमक डाला जाता है और ऐसे तो साधारण नमक भी इसमें डाल सकते हैं। इन्हें बनाना तो आसान है ही और ये जल्दी भी बन जाते हैं।

राजगिरे के पकोड़े खाने में कुरकुरे लगते हैं। मेरे घर में इन पकौड़ों को दही के साथ खाया है। लेकिन किसी चटनी के साथ भी इनका मज़ा लिया सकता हैं या ऐसे भी खा सकते हैं। आइये देखते हैं राजगिरे के पकौड़े बनाने की विधि।

 

main ingredient – rajgira flour (amaranth flour) and potato

total time required – 15 minutes

serving – 2 people

सामग्री राजगिरा के पकोड़े बनाने के लिए – ingrdients for rajgira pakora

  • रजगिरा का आटा – 1 कप
  • आलू – 1 मध्यम साइज वाला
  • नमक – स्वादानुसार
  • लाल मिर्च पाउडर- 1/4 टीस्पून
  • हरी मिर्च – 1
  • हरा धनिया – 1 टेबलस्पून
  • तेल- तलने के लिए
  • पानी – ज़रुरत के अनुसार

 

राजगिरा पकोड़ा बनाने का तरीका – rajgira pakora recipe –

preparing batter to make rajgira pakora

1. राजगिरा के पकौड़े (rajgira pakora) बनाने के लिए, पहले आलू को छील लें।

2. आलू को लम्बाई में दो हिस्सों में काट लें। हर आधे हिस्से को भी लम्बाई में काटकर आधा कर लें।

3. इस तरह आलू की चार फाँकें हो जायेंगीं। हर फाँक से छोटे और पतले आलू के टुकड़े काट लें।

4. हरी मिर्च और हरे धनिये को भी बारीक काट लें।

5. राजगिरे का आटा एक बर्तन में लेकर उसमें आलू के टुकड़े, नमक, लाल मिर्च पाउडर, कटा हुआ हरा धनिया और बारीक कटी हुई हरी मिर्च डालकर मिला लें।

6. थोड़ा-थोड़ा पानी इसमें डालते जाएँ और मिलाते जाएँ। पानी इतना ही मिलाएं कि जितने में राजगिरे का आटा अच्छे से लिटपिटा जाए और आलू के टुकड़ें भी अच्छे से आटे में लिपट जाएँ। राजगिरे का घोल (batter to make rajgira pakora) पकोड़े बनाने के लिए तैयार है।

 

steps to make rajgira pakora

 

frying rajgira pakora

7. एक कड़ाही में तेज आंच पर इतना गरम होने के लिए रख दें, जितने में पकौड़े तले जा सकें।

8. तेल गरम होने के बाद, उँगलियों की मदद दे थोड़ा-थोड़ा राजगिरे का घोल (एक पकोड़े के लिए लगभग आधा से एक टीस्पून घोल) कड़ाही में डालते जायें ताकि पकौड़े बन जाएँ। मैं तो छोटे-छोटे पकौड़े ही बनाना पसंद करती हूँ क्यूंकि ये अच्छे से सिक जाते हैं और इस वजह से काफी कुरकुरे भी हो जाते हैं।

9. एक बार में जितने पकौड़े कड़ाही में आराम से आ जाएँ उतने ही छोड़ें। बाकी घोल को अगली बार डालकर पकौड़े बना लें।

10. पकौड़े डालने के बाद, आंच को मध्यम कर दें। आलू के अच्छे से पकने और पकोड़ों के सब तरफ से सुनहरा होने तक इन्हें तल लें, लेकिन बीच-बीच में हिलाते रहें।

11. इसके बाद पकोड़ों को प्लेट में निकाल लें। राजगिरा के पकोड़े (rajgira pakora) खाने के लिए तैयार हैं।

Please Let Us Know How Can We Improve

%d bloggers like this: