amla ka achar is ready to eat

amla ka achar | आंवला अचार रेसिपी | amla achar recipe |

amla ka achar is a pickle made from boiled gooseberry by adding few spices in them. it can be served with any flat indian bread and dal-rice.

 

  • बनने में लगने वाला कुल समय – 3 दिन
  • तैयारी का समय –  20 मिनट
  • धूप में पकाने का समय – लगभग 3 दिन

 

amla achar recipe | gooseberry pickle |

आंवले का अचार (amla ka achar), जब भी बाजार में अच्छे आंवले (gooseberry) आसानी से मिल जाएँ और अच्छी धूप हो तो इसे बनाया जा सकता है। इस अचार को बनाने के लिए उबले हुए आंवले में कुछ मसाले (spices) और सरसों का तेल (mustard oil) डालकर मिलाये गए हैं। फिर इसे धूप में रखकर पकाया गया है। धूप में रखकर अचार को पकाने से इसका स्वाद अच्छा होता है और ये जल्दी ख़राब भी नहीं होता।

नीचे दी गई आंवले के अचार की रेसिपी (amla pickle recipe) में मैंने उबले हुए आंवले से अचार बनाया है ताकि ये खाने के लिए जल्दी तैयार हो जाए। इस अचार को किसी भी तरह के रोटी, पराठे या दाल-चावल को परोस सकते हैं। आइये देखते हैं आंवले का अचार बनाने की विधि।

आंवले का अचार बनाने के लिए सामग्री | ingredients required to make amla ka achar |

 

  • आंवला – 250 ग्राम
  • हल्दी पाउडर – 1 टीस्पून
  • लाल मिर्च पाउडर – 1 टेबलस्पून
  • नमक – 2 टेबलस्पून
  • राई (दरदरी पिसी हुई) – 2 टेबलस्पून
  • सौंफ (दरदरी पिसी हुई) – 4 टेबलस्पून
  • मेथीदाना (दरदरा पिसा हुआ) – 1 टेबलस्पून
  • हींग – 2 चुटकी
  • सरसों का तेल – 5 टेबलस्पून
  • पानी – ज़रुरत के अनुसार (आंवले को धोने और उबालने के लिए)

 

आंवले का अचार बनाने की विधि | amla ka achar recipe in hindi |

1. आंवले का अचार (to make amla ka achar) बनाने के लिए, सबसे पहले आंवले को पानी से अच्छी तरह से धो लें।

2. धुले हुए आंवले को प्रेशर कुकर में डालें, साथ में करीब एक-डेढ़ कप (1-1.5 cup) पानी डालें और कूकर का ढक्कन बंद कर दें।

3. तेज़ आंच पर कूकर में एक सीटी लें और गैस को बंद कर दें। कूकर को अपने आप ठंडा होने दें।

4. कूकर में से उबले हुए आंवले निकाल लें और उन्हें ठण्डा होने दें। आंवले के ठंडा होने पर उनकी फांकें (slices) निकालकर अलग रख लें और गुठलियों को हटा दें।

5. एक सूती कपड़े (cotton cloth) पर आंवले की फांकों को फैला दें और उन्हें थोड़ा सूखने दें। इसमें लगभग 4-5 घंटे लगेंगें।

6. अब एक बर्तन में आंवले की फांकें लें, उसमें नमक, हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, पिसी हुई सौंफ, राई और मेथीदाना डालकर अच्छे से मिलाएं। फिर सरसों का तेल डालकर अच्छे से मिलाएं। आंवले की फाँकें, सरसों के तेल में अच्छे से लिपट जानी चाहिए इसीलिए यदि तेल कम लगे तो थोड़ा और तेल इसमें मिला सकते हैं।

7. एक कांच के जार (glass jar) में अचार को भर दें और ढक्कन बंद कर दें। इस जार को 3-4 दिन तक धूप में रखें ताकि अचार अच्छे से पक जाए और खाने के लिए तैयार हो जाए। हाँ, लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि अचार को धूप में रखने से पहले चम्मच की मदद से अच्छे से हिला दें ताकि आंवले में मसाले और तेल अच्छे से मिल जाएँ।

8. इसके बाद आंवले का अचार (amla ka achar) खाने के लिए तैयार हो जायेगा। इसे किसी भी तरह के रोटी, पराठे या दाल-चावल के साथ परोस सकते हैं।

इस रेसिपी से जुड़ी हुई कुछ बातें –

हमने आंवले का अचार बनाने के लिए आंवले को इसीलिए उबाला है ताकि उसकी फाँकें आसानी से अलग हो जाएँ और अचार जल्दी पककर खाने लायक हो जाए।

आम और नीम्बू के अचार की तरह आंवले के अचार (amla ka achar) को कई सालों तक स्टोर करके नहीं रखा जाता लेकिन फिर भी कुछ दिनों या महीने भर तक तो इसे स्टोर करके रख ही सकते हैं। अचार को स्टोर कितने समय तक स्टोर करके रख सकते हैं ये इस पर निर्भर करता है कि आंवले की फांके अच्छे से सुखाई गई हैं या नहीं और दूसरा यह भी कि आंवले के अचार को अच्छे से धूप में पकाया गया है या नहीं। इसीलिए अचार को लंबे समय तक रखने के लिए आवंले की फाँकों को अच्छे से सुखाएं और अचार को धूप में अच्छे से पकाएं।

*अचार को ज़्यादा लंबे समय तक स्टोर करके रखना चाहते हैं तो इसमें तेल अच्छे से डालिये। वैसे आंवले के इस अचार के बनने के बाद इसे 15 -20 दिनों के भीतर में खाकर खत्म कर देना चाहिए क्योंकि आंवले के ताज़े अचार का स्वाद ज़्यादा अच्छा लगता है।

Please Let Us Know How Can We Improve

%d bloggers like this: